पुस्तकालय सदस्यता

पुस्तकालय में नियमित एवं अनियमित पाठकों की अनुमानित संख्या लगभग 6000 है। पुस्तकालय का सदस्य बनने हेतु कुछ विशेष नियमों का प्रावधान किया जाता है। जिसमें सदस्यता प्राप्त करने हेतु पाठकों को आवेदन पत्र एवं रजिस्ट्रेशन सम्बन्धी प्रक्रियाओं को पूर्ण करने के बाद पुस्तकालय में अध्ययन एवं पुस्तकालय से पुस्तके घर ले जाने की सुविधाएँ प्रदान की जाती है। पुस्तकालय की सदस्यता कोई भी (जाति/धर्म/लिंग/आयु) का व्यक्ति ग्रहण कर सकता है। पुस्तकालय की समयावधि में पुस्तक अध्ययन करने हेतु आवेदन पत्र की कार्यवाही पूर्ण कर पाठक प्रतिदिन बैठकर पुस्तकालय में अध्ययन कर सकता है। इसके अतिरिक्त घर ले जाकर पुस्तक अध्ययन करने हेतु आवेदन पत्र पूर्ण करने के उपरान्त 350रू0 की सुरक्षानिधि जमाकर पुस्तकालय की स्थायी सदस्यता प्राप्त की जाती हैं पाठकों को पुस्तकालय की स्थायी सदस्यता का वर्षोपरान्त नवीनीकरण करवाना पड़ता है। पुस्तकालय द्वारा पाठकों को 15 दिनों की अवधि के लिए पुस्तकें निर्गत की जाती है। आवश्यकता पड़ने पर पाठक पुस्तकों को पुनः निर्गत कराकर पढ़ सकता हैं। पाठकों द्वारा निश्चित समयावधि के उपरान्त पुस्तक न लौटाए जाने की दशा में निर्धारित विलम्ब शुल्क का भुगतान करना होता है। पाठक द्वारा पुस्तक खो जाने या उसें न लौटाए जाने की दशा में पुस्तक पर मुद्रित राशि मूल्य पुस्तकालय में जमा करना होता हैं।

TOP